एक होना होगा हिमाचली कलाकारों को

Posted by on Mar 20, 2017 in Blog, Cinema, Featured, Himachali Cinema, Indian Cinema

Continue

Himachali-Artistsसाल 2014 में जब मैं वापिस हिमाचल आया और वहाँ फिल्म निर्माण का कार्य शुरू किया तो सबसे पहले ख्याल आया कि हिमाचली कलाकारों को जोड़ा जाए। क्योंकि जब तक हिमाचली कलाकार एक ना होंगे तब तक हम हिमाचल में किसी भी कला के उत्थान के लिए काम करना असंभव है। जिस तरह हम आज कोशिश कर रहे हैं ठीक उसी तरह और भी लोग हैं जो इसी कोशिश में लगे हैं कि हिमाचली सिनेमा व् संगीत को एक नई ऊंचाई पर ले जाया जा सके।

मेरे पहले प्रयास से ही मुझे मालुम पड़ गया था कि आपसी रंजिश और द्वेष के चलते ज़्यादातर कलाकार, एक दूसरे का समर्थन करने के बजाय उनके लिए रास्ते का पत्थर बनने में ज़्यादा मेहनत कर रहे हैं। ठीक कुछ ऐसा ही उस समय देखने को मिला जब हमने साँझ फिल्म का काम शुरू किया। बहुत से कलाकार खुद तो आगे नहीं आये परंतु जो लोग हमारे साथ काम कर रहे थे उन्हें भी पीछे धकेलने की पूरी कोशिश की गयी। मैं यह समझने की कोशिश कर रहा था कि ऐसा करने से इन लोगों को क्या फायदा है और सच्च में कोई फायदा था भी नहीं पर फिर भी ऐसी कोशिशें लगातार होती रही।

खैर जो बीत गयी सो बात गयी। अब हम एक बेहतर कल के लिए काम कर रहे हैं और बहुत से लोग भी कुछ ऐसी ही सोच के साथ हिमाचली कला के बेहतर भविष्य के लिए कोशिश कर रहे हैं। एक दूसरे का समर्थन बहुत ज़रूरी है। आज मेरे इस लेख के माध्यम से मैं उन सभी लोगों से एकजुट होने की अपील करना चाहता हूँ जो लोग मेरे साथ या फिर किसी भी दूसरे कलाकार के साथ, किसी भी तरह का मतभेद रखकर चल रहे हैं। मैं बस इतना कहना चाहता हूँ कि इस तरह के मतभेद या द्वेष हमारी पहाड़ी कला के उत्थान के लिए घातक है, और हम सभी कलाकारों के अपने विकास के लिए भी। अगर हो सके तो यह सब भूल कर आगे आएं।

Tags: