Tag: Kangana Barkha Dutt

ऋतिक या अध्यन की रूह भी कंगना की सोच तक नहीं पहुँच सकती

जब कोई इंसान छोटे-छोटे गाँवों में बचपन गुज़ारकर आगे बढ़ता है तो उसकी सोच और समझ शहरों में रहने, बड़े-बड़े स्कूलों में पढ़ने और बड़ी-बड़ी गाड़ियों में घूमने वालों से कहीं बढ़कर होती है. कंगना रनौत के यह शब्द जितने गहरे हैं उतनी गहरी ऋतिक रोशन या अध्यन सुमन की रूह भी नहीं पहुँच सकती।...