poverty india

Continue

इन्हे शब्दों की ज़रूरत नहीं

Posted by Ajay Saklani on June 16, 2009  /   Comments

आज मित्र नरेश से मेल द्वारा प्राप्त हुए कुछ चित्र आपके समक्ष रख रहा हूँ| इन्हे शब्दों की ज़रूरत नहीं है, बस तस्वीरें ही सब कह जाती हैं| और अगर ज़रूरत है तो बस आपके …

Continue

तुम जिंदा भी मरे हुए के समान हो

Posted by Ajay Saklani on June 14, 2009  /   Comments

सन 2010 में होने वाले राष्ट्रमंडल खेलों की तैयारियां आजकल दिल्ली में बहुत ज़ोरों–शोरों से चल रही है| दिल्ली को नया रंग–रूप देने की कोशिश की जा रही है| सड़कों की मरम्मत का काम तेज़ी …

Continue