Tag: saanjh film

सभी की पहली फिल्म है सांझ, केवल मेरी ही नहीं

‘पहली फिल्म’ नामक शब्द के कई अर्थ होते हैं। कभी-कभी यह शब्द ग़लत तरीके से भी इस्तेमाल होता है तो कभी इसका अर्थ ग़लत तरीके से समझा जाता है। हमारी आने वाली फिल्म ‘साँझ’ के साथ भी कुछ ऐसा ही मामला है। ‘पहली फिल्म’ शब्द यहां भी कुछ ज़्यादा ही इस्तेमाल हो रहा है जो...

एक होना होगा हिमाचली कलाकारों को

साल 2014 में जब मैं वापिस हिमाचल आया और वहाँ फिल्म निर्माण का कार्य शुरू किया तो सबसे पहले ख्याल आया कि हिमाचली कलाकारों को जोड़ा जाए। क्योंकि जब तक हिमाचली कलाकार एक ना होंगे तब तक हम हिमाचल में किसी भी कला के उत्थान के लिए काम करना असंभव है। जिस तरह हम आज कोशिश...

एक ख्वाब था हिमाचली सिनेमा का

लगभग 12 साल पहले, 2005 में जब मैंने सिनेमा में कदम रखा तो हिमाचली सिनेमा का एक ख्वाब देखा था। मन में बस यही ख़याल आता था कि क्या हिमाचल में भी कभी सिनेमा की शुरुआत हो पाएगी? क्योंकि उस समय तक मुझे कोई भी ऐसा व्यक्ति नज़र नहीं आया था जो हिमाचल में सिनेमा...

Raising funds means loosing friends more than respect

Sometimes you feel that asking people to fund your project is like loosing your respect. Yes that happens when you keep on asking people to contribute for your project and they look at you the same way they look at any beggar. Even time comes when you feel more like begging from your friends, relatives...

We don’t have this word ‘cinema’ in our dictionary – HP Govt.

For the past few years, I came across a few news articles published on various newspapers about filmmaking in Himachal and the government’s initiative to setup a film city in the state. Even a few months back when Himachal chief minister Virbhadra Singh said the same thing while visiting Ramoji Film City, there he created...